कर्तव्य, कर्म और जीवन

ईरानी फिल्मों में बच्चों की कहानियां क्या अब भी दिखाते हैं? उर्दूवुड बच्चों पर उतनी फ़िल्में नहीं बनाता। अगर आबादी […]

द रीडर

“द रीडर” मेरी प्रिय फ़िल्मों में से एक। एक ऐसी फ़िल्म जिसे देख कर मैं कई दिनो तक यहीं सोचती […]

रुई का बोझ

चंद्रकिशोर जयसवाल की उपन्यास पर एक बेहतरीन फिल्म बनी “रुई का बोझ” – फिल्म की कहानी एक बुज़ुर्ग व्यक्ति की […]

Tere Ghar Ke Samne

तेरे घर के सामने

कुतुबमीनार को लेकर बीच बीच में विवाद उठते रहते हैं। जैसा कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण का विभाग स्वीकारता है, ये […]

बंदिनी फिल्म के एक दृश्य में अशोक कुमार और नूतन

मत खेल जल जाएगी!

कभी “आल इज वेल” सुना है क्या? जरूर सुना होगा, ये हाल ही में एक प्रसिद्ध सी फिल्म “थ्री इडियट्स” […]